Law Of Attraction

Law of Attraction

Idea! There is a small word of three letters, but the miracle is so big that make the rank a king and the rich beggar beggars. The idea is that power that shines our life suddenly. This power of thought works on the principle that the principle of attraction is the law of attraction! The principle of attraction – direct meaning is to attract what we can attract Are there. If you want sorrow, disease, poverty, then you should start such thoughts, of course you will not have to stop anybody from stopping. On the contrary if you want rich, popular, well-being, happiness, then happiness, wealth, thoughts start up Doing and once again, of course no one can stop you from becoming rich. This is the principle of attraction.

Little examples of the principle of attraction we see unknowingly, but never notice-

Buying a new car and then seeing them everywhere.

Learning new words and then listening to it on TV or radio.

Are thinking about a friend and they call you on the phone all of a sudden and are thinking about someone and then they go on the road or in the shop.

Listen to a song or professional jingle before you watch it on radio or TV.

All the above items are examples of evidence of law of attraction. In each scenario, your thoughts have changed to align your reality with your beliefs. When you think of something (like your brand new car, or how wonderful your day is), you make a reality in which there are items you were thinking about (more cars like you, or more all day long Good events). The beauty of these things is that they clearly show that the result of your thoughts is the result. Without doing anything, you can see the daily proof of law of attraction. Looking at this evidence, you will gain greater confidence in the ability to make your reality through managing your thoughts.

The question is, how and how much time can we get through this principle? The answer is low-
How is this possible? – The universe is always available to you, it can also change the world according to you. All you have to do is start by just ordering. Mainly the principle of attraction is based on demand and trust, but how is this possible? – The universe is always available to you, it can also change the world according to you. All you have to do is start by ordering only. Mainly the principle of attraction is based on demand and faith, but its entire process is down-

1. Desire – First of all tell your wish to the universe. Tell him that I need it as a promotion, money, a car, a good wife or success in the exam, anything. It is up to you. Tell anyone who wants to open your heart.

2. Believe – If your goals or dreams are lacking in willpower then your dream can never become reality. A strong will is the basis of Law of Attraction. It is the will that only keeps you connected to the “goal” and inspires to make continuous effort. There should be no doubt in one moment also. Be confident. At the time of sleeping at night, during the rest of the day, dream of getting that thing and feel happy that as you have found it.

You have asked the universe that I want a car, in your behavior or belief, it does not seem to mean that if you want a car then the universe will reject it as a bogus entry. For this, it is necessary that you bring the idea of the design of the car in your mind, thinking of the color of the car, where you will come to roam after the arrival of the car, and many more which you can imagine. For me this has worked every moment.

3. Do the work-keep your dreams alive. If the spark of your dreams is extinguished, it means that you have committed suicide.

You have demanded something from the universe under the rule of attraction, and if you are sitting or sleeping while dreaming and doing nothing, then will this rule work? No. In Law of Attraction, the thing you want is drawn towards you, but you also have to take some steps towards it.

You told the universe that I want to be the best cricketer of the world but will you ever go to play cricket, or will you become the best cricketer of the world? I have dreamed of becoming a Successful Poet and Writer, if I will not, will it be reality? Dreamed to top in the exam, and if not? You will not even be able to pass.
Therefore, try to get your imagination from whatever you have done, as well as being happy with your hard work and also thinking that your wishing Wish Dream is coming towards you. is. When the Universe will look at Attract with your body and mind, then it will have to force itself to give you anything you want.

4. Found – If the above three steps are done with passion, honesty and belief, then in the end you have to say that you are going to achieve your goal

In how much time ? – It depends entirely on you how much time you take to get your desired thing when you ask for the principle of attraction to fulfill your desire, then it starts to work immediately. But as long as you do not go into the situation where you want, you cannot find it.

The universe determines your desire, your gravity to get it, your thoughts, the frequency of Dreams, and Frequency etc., when you want to get what you want? You can successfully use Law of Attraction in 3 years to 3 minutes by generating power in your thoughts.

जो सोचे, सो पाएं !

विचार! तीन अक्षरों का एक छोटा सा शब्द है, लेकिन चमत्कार इतनी बड़ा है कि रंक को राजा बना दे और अमीर को फुटपाथिया भिखारी। विचार ही वह पावर है जो हमारे जीवन को अचानक ही चमक देता हैविचारों की यह शक्ति जो सिद्धांत पर काम करता है, वह है आकर्षण का सिद्धांत आकर्षण का कानून!आकर्षण का सिद्धांत – सीधा सा अर्थ है आकर्षित करना अर्थात् हम जो चाहे आकर्षित कर सकते हैं। यदि आप दुख, बीमारी, गरीबी चाहते हैं तो ऐसे विचारों को शुरू करना चाहिए, निश्चित रूप से आप को किसी को रोक नहीं रोकना होगा।इसके विपरीत अगर आप अमीर, लोकप्रिय, सुस्वास्थ्य, खुशी चाहें तो खुशियाँ, धन, सचेत विचारों को शुरू करना और एक बार फिर, बेशक आप अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता है। यही आकर्षण का सिद्धांत है

आकर्षण के सिद्धांत के छोटे मोटे उदाहरण हम अनजाने में रोज देखते है, लेकिन कभी गौर नहीं करते-

एक नई कार खरीदना और फिर उन्हें हर जगह देखक

नया शब्द सीखना और फिर इसे टीवी या रेडियो पर कई बार सुनना

एक दोस्त के बारे में सोच रहे हैं और वे अचानक फोन पर आपको फोन करते हैंकिसी के बारे में सोच रहे हैं और फिर उन्हें सड़क पर या दुकान में चलते हैं

रेडियो या टीवी पर देखे जाने से पहले आपके मन में एक गीत या व्यावसायिक जिंगल को सुनना

उपरोक्त सभी आइटम आकर्षण के कानून के साक्ष्य के उदाहरण हैं। प्रत्येक परिदृश्य में आपके विचारों ने आपके वास्तविकता को अपने विश्वासों के साथ संरेखित करने के लिए बदल दिया है। जब आप किसी चीज के बारे में सोचते हैं (जैसे आपकी ब्रांड नई कार, या आपका दिन कितना बढ़िया है) आप एक वास्तविकता बनाते हैं जिसमें वे आइटम होते हैं जिनके बारे में आप सोच रहे थे (आपके जैसे अधिक कारें, या पूरे दिन अधिक अच्छी घटनाएं)।इन वस्तुओं की सुंदरता यह है कि वे स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करते हैं कि आपके विचारों के नतीजों का नतीजा है। कुछ भी करने के बिना, आप आकर्षण के कानून के दैनिक प्रमाण देख सकते हैं। इस सबूत को देखकर आपको अपने विचारों को प्रबंधित करने के माध्यम से अपनी वास्तविकता बनाने की क्षमता पर अधिक विश्वास मिलेगा।

सवाल यह है कि हम मनचाही चीज इस सिद्धांत के द्वारा कैसे और कितने समय में पा सकते है? इसके जवाब निम्न है-

यह कैसे संभव है? – ब्रह्माण्ड हमेशा आपके लिए उपलब्ध है, यह आपके अनुसार विश्व परिवर्तन भी कर सकता है। आपको बस केवल आदेश देने से शुरू करना है मुख्य रूप से आकर्षण का सिद्धांत मांग और विश्वास पर आधारित है, लेकिन इसकी पूरी प्रक्रिया यह कैसे संभव है? – ब्रह्माण्ड हमेशा आपके लिए उपलब्ध है, यह आपके अनुसार विश्व परिवर्तन भी कर सकता है। आपको बस केवल आदेश देने से शुरू करना है मुख्य रूप से आकर्षण का सिद्धांत मांग और विश्वास पर आधारित है, लेकिन इसकी पूरी प्रक्रिया नीचे है-

1. इच्छा बताए- सर्वप्रथम इस ब्रह्मांड को अपनी इच्छा बताए। उसे कहे कि मुझे यह चाहिए जैसे कि प्रमोशन, पैसे, गाड़ी, अच्छी बीवी या परीक्षा में सफलता, कुछ भी। यह आप पर निर्भर है। जो भी चाहते है दिल खोलकर बता दे।

2. विश्वास करे- अगर आपके लक्ष्य या सपनों में दृढ़ इच्छाशक्ति की कमी है तो आपका सपना कभी हकीकत नहीं बन सकता| दृढ़ इच्छाशक्ति ही Law of Attraction का आधार है| यह इच्छाशक्ति ही है जो आपको “लक्ष्य” से जोड़े रखती है और निरंतर प्रयास करने के लिए प्रेरित करती है|मन में एक पल भी शंका नहीं आनी चाहिए। Be confident. रात को सोने के समय, दिन में आराम के वक्त उस चीज को पाने के सपने देखे और खुशी महसूस करे कि जैसे वह आपको मिल गई है।

आपने ब्रह्मांड से मांगा कि मुझे कार चाहिए, आपके व्यवहार या विश्वास में तो कही यह बात दिख ही नहीं रही है कि आपको Car चाहिए तो ब्रह्मांड इसे एक बोगस Entry मानकर इस इच्छा को Reject कर देगा। इसके लिए यह चाहिए कि आप अपने मन में मनचाही कार की Design के विचार लाए, Car का Color सोचे, कार आने के बाद कहां कहां घूमने जाएंगे यह सोचे और भी बहुत कुछ जो आप खुशी खुशी Imagine kar सकते है। मेरे लिए इसने हर पल काम किया है।

3. काम करते जाए-अपने सपनों को जिन्दा रखिए| अगर आपके सपनों की चिंगारी बुझ गई है तो इसका मतलब यह है कि आपने जीते जी आत्महत्या कर ली है|

आपने आकर्षण के नियम के तहत ब्रह्मांड से कुछ मांग लिया है, और आप बैठे बैठे या सोते सोते उस के सपने देख रहे है और काम कुछ भी नहीं कर रहे है तो क्या यह नियम काम करेगा? नहीं। Law of Attraction में आप द्वारा चाही गई चीज आपकी ओर खींची हुई आती है, लेकिन साथ में आपको भी उसकी ओर कुछ कदम बढाने होते है।

आपने ब्रह्मांड से कह दिया कि मैं World का बेहतरीन Cricketer बनना चाहता हूं लेकिन आप कभी Cricket खेलने जाओगे ही नही तो क्या दुनिया के बेहतरीन क्रिकेटर बन पाओगे?नहीं। मैनें Successful Poet and Writer बनने का सपना देखा है, अगर मैं लिखूंगा ही नही तो क्या यह हकीकत हो जाएगा? Exam में Top करने का सपना देखा, और पढे ही नही तो? पास भी नहीं हो पाओगे।

इसलिए आपने जो भी Imagine kiya है उसे पाने की दिशा में अपनी तरफ से भी कोशिश करते जाइए, साथ ही साथ अपनी मेहनत से खुश होकर अपने मन में यह विचार भी जमाते जाइए कि आपकी मनचाही चीज (Wished Dream) आपकी ओर खींची चली आ रही है। ब्रह्मांड जब आपको तन और मन से उस चीज के प्रति व्याकुल (Attract) देखेगा, तो स्वंय उसे भी आपकी मनचाही चीज देने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

4. पाए– अगर उपरोक्त तीन चरणों को जुनून, ईमानदारी और विश्वास के साथ किया जाता है, तो आखिर में आपको ये कहना है कि आप अपना लक्ष्य प्राप्त करने जा रहे हैं